होम Crime कोटा रामगंज थाने में सटोरियों पर पुलिस की ताबड़तोड़ कार्यवाही

कोटा रामगंज थाने में सटोरियों पर पुलिस की ताबड़तोड़ कार्यवाही

0
रामगंज थाना कोटा की सजगता के चलते क्षेत्र के सटोरियों में दहशत

रामगंज थाना कोटा की सजगता के चलते क्षेत्र के सटोरियों में दहशत

एक के बाद एक कार्यवाही करते हुए कोटा के रामगंज थाना इलाके की पुलिस की कार्यवाही से पुरे इलाके के सटोरियों में एक भय का माहोल बना हुआ है. पिछले कुछ दिनों से पुलिस का कहर सट्टे बाजो पर टुटा है और लगातार कार्यवाही करने से पता चलता है इस ग्रामीण इलाके में लोग अपनी खरी कमाई कैसे जुए में लुटा रहे हैं.

कल देर रात को मिली सुचना के अनुसार खेराबाद थाना क्षेत्र में अवैध कार्य और जुए से निपटने हेतु जब गस्त पर निकले जिसमे कोंस्तेबल श्री प्रदीप कुमार, रामावतार, पुरे जाप्ते के साथ शिवदयाल सहायक उप निरीक्षक गोयन्दा चौराहा खैराबाद के पास पंहुचे तब उन्हें मुखबिर से सूचना मिली कि तालाब की पाल के निकट सट्टा खेला जा रहा है.

वहां पहुँचने पर बताये गए हुलिए जैसा व्यक्ति नजर आया जो कि सट्टे कि पर्चिया काट कर खाईवाली करता नजर आया. पुलिस द्वारा घेरे जाने के दौरान कुछ लोग मौके से फरार होने में कामयाब हुए वही सट्टे की खाईवाली करने वाला जरुर पकड़ा गया.उसने अपना नाम भैरुलाल पुत्र बजरंगलाल जाति पटवा उम्र 58 साल और अपना पता देवनारायण मन्दिर के पास खैराबाद थाना रामगंजमण्डी जिला कोटा बताया.

मौके पर कोई भी आदमी गवाह बनने को तैयार नहीं हुआ तब वह मौजूद कांस्टेबल को स्वतंत्र गवाह बना कर विधिवत रूप से बजरंग लाल के शर्ट की तलाशी लेने पर उसकी पॉकेट से सट्टे की रकम अक्षरे २३०/- रुपये, और उसके हाथ में मौजूद बोलपेन और जेब से सट्टे की पर्चिया बारामद की गई.

चूँकि बजरंग लाल सार्वजानिक स्थान पर सट्टे की खाईवाली कर रहा था जिसके मार्फ़त व्यक्ति को अनुचित लाभ और अन्य को अनुचित हानि होना कानूनन जुर्म है और धारा 43 आरपीजीआए के अंतर्गत अपराध की श्रेणी में आता है तो बजरंग लाल को हिरासत में लेकर आगे की कार्यवाही पुरी की गई.

उक्त घटना से एक दिन पुर्व भी रामगंज थाना पुलिस की सक्रियता के चलते 2 अक्टूबर को स्टेशन चोराहे पर चल रहे सट्टे की खाईवाली करते हुए एक जुआरी किशोर जो कि सुभाष कोलोनी रामगंज का निवासी है को हिरासत में लिया और सट्टे कि पर्चियों और 740/- रुपये बरामद करने में सफलता पाई.

इस कार्यवाही को कांस्टेबल सुरेन्द कुमार और हरेन्द्र कुमार के साथ हेड कांस्टेबल श्री लक्ष्मी नारायण ने अंजाम दिया था.

कोई टिप्पणी नहीं है

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

Exit mobile version