कोरोना के साइड इफ़ेक्ट दूर करने के लिए जोधपुर एडमिनिस्ट्रेशन के लोगो ने कई नए प्रयोग करके आम जनता का तनाव घटाना शुरू कर दिया है और इसके व्यापक परिणाम दिखाई दे रहे हैं.

हम इस पर आज नजर डालें तो पाएंगे कि लगभग हर स्तर पर एक सकारात्मक पहलु आज जोधपुर के लिए दिखाई दिया है.

जोधपुर के एजुकेशन किंग उत्कर्ष क्लासेज ने सरकारी स्कूल के छात्रों के लिए मोबाइल पर निशुल्क पढाई की घोषणा कर डाली. केवल अभिभावकों को इसके लिए ऑनलाइन आवेदन करना होगा. इस्ससे शिक्षा जगत में नयी क्रांति आएगी.

वही समित शर्मा जो कि संभागीय आयुक्त हैं उन्होंने जेनेरिक दवाइयों के लिए अलग शेल्फ रखने का आदेश दे दिया है. उनकी अदितीय कार्यशेली के दीवाने इस खबर से बड़े खुश दिखाई डे रहे हैं.

वही लोगो के परेशानियों को कम करने के लिए राज्य सरकार ने भी उचित निर्णय लेते हुए हुए कोरोना टेस्टिंग की दरें तो घटाई और स्थानीय स्तर पर वॉर रूम बनवाए हैं. ताकि बेड्स और ऑक्सीजन की कमी की शिकायतों के समाधान स्थानीय स्तर पर किया जा सके.

शहर के जागरूक लोगो ने भी साईं योग स्थली की सहायता से योग की निशुल्क क्लास लगवाई हैं, और साथ ही योगिनी इंदु और अक्षिता कछवाहा के अथक प्रयासों से व्यक्तित्व विकास और योग द्वारा जोधपुर वासियों की जीवन शैली बदलने का अच्छा प्रयास किया गया है.

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here