यदि आपने अभी हालिया खरीददारी करते हुए ऑनलाइन सेल करने वाली कंपनियों से कोई उत्पाद मंगवाया है तो आप भी हो जाओ सावधान!!

आज कल एक नया और अजीब सा बर्ताव भारतीय ग्राहकों के साथ हो रहा है जिसमे बड़ी और नामी गिरामी कंपनिया जैसे कि फ्लिप्कार्ट और अमेज़न पर भी सवाल खड़े हो रहे हैं.

खरीदे हुए प्रोडक्ट की रिटर्न रिक्वेस्ट डालते ही लोगों की आईडी हो रही है क्लोज और इसके बाद जब कस्टमर केयर से इसके बारे में पूछा जाने पर कोई माकूल जवाब भी नहीं दिया जा रहा है.

और ऐसा अंदेशा है कि कंपनिया इसके लिए नयी काम्प्लेन लेकर जब तक उनके रिटर्न रिक्वेस्ट का समय ख़तम नहीं हो जाता तब तक उनकी आईडी दोबारा एक्टिवेट नहीं करेगी. और ऐसी नौबत आने पर उपभोक्ताओं के साथ बहुत बुरा सुलूक हो सकता है जिनसे उनको निम्न प्रकार की दुविधाएं हो सकती है

  • अपने पुराने ऑर्डर्स की सूचि ना देख पाना.
  • यूजर के फाइनेंसियल डिटेल्स जैसे कि डेबिट कार्ड और क्रेडिट कार्ड की सूचि कंपनी के पास महफूज नहीं रह सकती.
  • अपने अकाउंट से जुडी तमाम प्रकार की डिटेल्स डिलीट कर पाने में लोग अक्षम रहेंगे.
  • यूजर कोई अन्य प्रोडक्ट आर्डर नहीं कर पायेगा.
  • दुसरे कोई आर्डर का status नहीं देख पायेगा.

ये परेशानिया तो महज एक बानगी है. कम्पनियों के साथ बेशक कोई अपराधी तत्वों द्वारा fraud हुए होंगे मगर कंपनी को अपने प्रोसेस को दोबारा ठीक करने कि जरुरत है और केवल उन्ही लोगो की आईडी बंद करनी चाहिए जिनसे उन्हें इस तरह के fraud का अंदेशा हो.

लेकिन ऐसी कंपनिया यूजर के उन पैसो का कोई हिसाब नहीं बताती जो उनके वॉलेट में या गिफ्ट वाउचर में ऐड होते हैं. जैसा कि फ्लिप्कार्ट और अमेज़न के प्रीमियम अकाउन्ट्स में लोग अपनी बहुमूल्य धनराशी भी खर्च करके उसमे अपना बैलेंस मेन्टेन करते रहते हैं.

यहाँ भारत सरकार को भी ऐसी हरकतों के खिलाफ सख्त action लेना चाहिए जिससे कंपनिया ऐसे मनमानी करने से बाज आये. और जागरूक ग्राहकों को भी अपने अधिकारों का इस्तेमाल करते हुए कोर्ट में जाकर ऐसे कंपनियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करवाना चाहिए.

कस्टमर का अधिकार है कि यदि उसने कोई प्रोडक्ट किसी कंपनी से खरीदा है तो उसे इस प्रोडक्ट कस्टमर तय सीमा में उसे दोबारा भेज सकता है. इ कॉमर्स वेबसाइट की नियम सूचि देखने पर गौर किया जाए तो उन्हें यूजर का अकाउंट बंद करने का पूरा अधिकार है और सदेह्जनक परिस्थितियों में यूजर का अकाउंट बंद किया जा सकता है.

ऐसे यूजर किसी दूसरी आईडी से भी आर्डर नहीं कर सकते हैं. उक्त खबर की लल्लनटॉप के youtube पर उपलब्ध विडियो में भी पुष्टि हुई है.

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here