देवकी गाँव में मासूम की हत्या से तनाव का माहौल

0
325

बच्ची ने इलाज हेतु अहमदाबाद ले जाने के दौरान रस्ते में दम तोडा समाज के लोगों का शव उठाने से इनकार आहोर उपखंड में तनाव

13 वर्षीय मासूम लड़की के निधन के बाद से देवकी गाँव से सैन समाज के लोग आज दिनांक 29 सितम्बर को आहोर उपखंड कार्यालय पंहुचे. उन्होंने शव को वहाँ रख कर आरोपियों की गिरफ़्तारी और निष्पक्ष जांच की मांग की. और शव को उठाने से इनकार कर दिया.

क्षेत्रीय पुलिस अधिकारी DYSP जयदेव सियाग मौके पर पंहुच गए हैं और देवकी गाँव के लोगो और सैन समाज के जन प्रतिनिधियों को समझाने का प्रयास कर रहे हैं. उन्होंने इस घटना की निष्पक्ष जांच का आश्वासन भी दिया और जल्दी ही आरोपियो को हवालात में डालने की बात भी कही.

दरअसल 20 सितम्बर को सुबह तकरीबन 9.30 बजे गणेश लाल सैन की पुत्री तेरह वर्ष की मासूम बालिका अपने घर से दूध लेने के लिए किराणे की दूकान पर जा रही थी वही एक अन्य लड़की ने उस पर हमला कर दिया उसे भरी छोटे आई और स्थानीय स्टार पर किये गए इलाज के दौरान उसकी हालत लगातार बिगडती चली गयी.

फिर उसे 27 सितम्बर को इलाज हेतु अहमदाबाद ले जाया जा रहा था उसी दौरान मेहसाणा के निकट बच्ची ने दम तोड़ दिया. उक्त घटना की रिपोर्ट 28 सितम्बर को दफा 302 के तहत मामला दर्ज किया गया. जिसमे खगार सिंघ पुरोहित की लड़की के खिलाफ मामला दर्ज करवाया गया है.

जिस लड़की के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है उसने 13 वर्षीय लड़की की मृत्यु के पश्चात अपने whatsapp status पर कुछ भड़काऊ टिप्पणी भी की थी. वैसे यह पूरा मामला मकान की दीवार को लेकर शुरू हुआ बताया जा रहा है. जिसमे दोनों घरो के बीच में आपसी रंजिश बन चुकी थी.

नोसरा पुलिस थाणे में दर्ज इस मामले में दफा 302 के तहत मामला दर्ज किया गया है और अब यह मामला समाज के लोगो के एक साथ आने पर थोडा हाई प्रोफाइल बन गया है. उम्मीद है जल्दी ही बड़ी कार्यवाही देखने को मिलेगी और पीड़ित पक्ष को न्याय मिलेगा.

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here