उल्लंघन करने पर विभिन्न धाराओं में मामला दर्ज

जिस प्रकार से जोधपुर प्रशासन ने कोरोना को कण्ट्रोल करने कि प्रतिबद्धता दिखाई है वह काबिले तारीफ है. जहाँ कोरोना संक्रमित रोगियों की देखभाल और व्यवस्था में चिकित्सा विभाग की लापरवाही साफ़ झलक रही है वही जोधपुर पुलिस ने अपना काम बहुत अच्छे ढंग से किया है.

अभी हाल ही में सरदारपुरा में एक कोरोना सक्रमित व्यक्ति के खिलाफ पुलिस ने मुकदमा तक दर्ज कर दिया जिसमे मरीज को Home Quarantine रहने के निर्देश दिए गए थे. वह जांच के दौरान घर पर उपस्थित नहीं मिला. व्यक्ति का नाम श्यामसुंदर पुत्र श्री किशन लाल बताया जा रहा है वही उसकी उम्र 58 वर्ष बताई जा रही है.

घर में मौजूद उसके बेटे से उसके पिता के बारे में पुछा गया तो बताया कि किशन लाल बिना मास्क पहने ही घर से लाडनू के निकल गया था. ऐसी नजरंदाजी से कियो में कोरोना का संक्रमण फैलने की सम्भावना बताई जा रही है.

उक्त मामले में पुलिस द्वारा भारतीय दंड संहिता 1860, महामारी अध्यादेश 2020 और आपदा प्रबंधन अधिनियम के तहत विभिन्न धाराओं में मामला दर्ज कर दिया.

इस प्रकार की कार्यवाही काबिले तारीफ है. और जनता से भी यह अपेक्षा की जाती है कि वह महामारी में फैलाव को रोकने में अपना योगदान सुनिश्चित करे. पुलिस विभाग द्वारा कल दिनांक 25 सितम्बर को जागरूकता के लिए रैली निकाली वही कल रात 10 बजे से शुरू हुए २ दिन के lockdown के मद्देनजर जनता को बाहर नहीं निकलने की अपील भी की.

वही चिकित्सा विभाग की लापरवाही जारी है और कोरोना पोजिटिव के आंकड़ो और हालिया शुरू हुए हुए वॉर रूम द्वारा किसी भी हॉस्पिटल के बारे में कोई भी जानकारी नहीं होने के आरोपों के चलते जनता में काफी आक्रोश दिखाई दे रहा है.

सरकार को आनेवाले दिनों में काफी मुश्किल परिस्थितियों से गुजरना पड़ेगा इसमें कोई दो राय नहीं है. क्योकि कोरोना का संक्रमण एक तरह से कम्युनिटी लेवल की तरफ बढ़ने के तगड़े संकेत मिल रहे हैं. टेस्ट में कमी और आंकड़ो को उजागर नहीं करने को लेकर विपक्ष राज्य सरकार पर लगातार सवाल उठा रही है.

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here