होम News बिहार चुनाव से पूर्व तेजस्वी तेजप्रताप यादव पर हत्या का आरोप...

बिहार चुनाव से पूर्व तेजस्वी तेजप्रताप यादव पर हत्या का आरोप एफ़आईआर

0
बिहार चुनाव से पूर्व तेजस्वी तेजप्रताप यादव पर हत्या का आरोप एफ़आईआर

तेजस्वी यादव सहित छह अन्य लोगों पर अपनी ही पार्टी के एक पूर्व नेता “शक्ति मलिक की हत्या” के मामले में पूर्णिया ज़िले बिहार में आज दिनांक 5 अक्टूबर 2020 को एक प्राथमिकी दर्ज कराई गई है. शक्ति मलिक की हत्या रविवार सुबह बताई जा रही है.

तेजस्वी तेजप्रताप यादव पर हत्या का आरोप

उक्त व्यक्ति राजद पार्टी मेंअनुसूचित जाति-जनजाति प्रकोष्ठ सचिव के रूप में अपनी सेवा दे चुका था. फिलहाल पार्टी द्वारा किसी भी स्तर पर या निजी तौर पर तेजस्वी यादव, और उनके बड़े भाई तेज प्रताप यादव की तरफ से कोई आधिकारिक टिप्पणी नहीं आई है.

इस प्राथमिकी के समय पर गौर करे तो जरूर राजनीतिक साजिशन ऐसा संभव है, वही पिछले कुछ दिनों से राजद के लिए भी मुश्किलें कम होती नही दिख रही है, हाल ही में लोगो ने उन पर टिकट के लिए 50 लाख रुपये मांगने के आरोप भी लगाए थे.

जानकारी के तौर पर जो बात सामने आई है उसके अनुसार शक्ति मलिक माता श्रीमती मालती देवी ने बयान दिया है कि कल दिनांक 4 अक्टूबर 2020 की रविवार सुबह छह बजे के आसपास तीन लोगों ने दीवार फांद घर मे अनधिकृत रूप से प्रवेश किया। वहीं पूर्णिया स्थित घर में शक्ति मालिक की निर्मम हत्या कर दी.

मृत्यु का कारण सर और छाती में गोली मारना बताया है सारे लोग नकाबपोश थे. आसपड़ोस और परिवारजन इसकी आवाज़ सुनने पर दौड़ कर आये और शक्ति मालिक को तुरंत पूर्णिया के सदर अस्पताल लेकर जा रहे ही रहे थे लेकिन कि अचानक बीच रास्ते मे ही उन्होंने डैम तोड़ दिया और वे लोग अस्पताल पहुंचने पर डॉक्टर ने उन्हें मृत घोषित कर दिया.

नजदीकी पुलिश थाने पूर्णिया के पुलिस अधीक्षक श्री विशाल शर्मा ने बताया कि शक्ति मालिक श्री मति खुशबू ने बयान दर्ज करवाया और उसी के आधार पर छह लोगों के ख़िलाफ़ हत्या से संबंधित प्राथमिकी दर्ज हुई है. फिलहाल पुलिस इस मामले की हर एंगल से आगे जांच कर रही है.

पूर्णिया थाने में दर्ज एफ़आईआर में लालू प्रसाद यादव के बेटों के साथ अनिल कुमार साधु, कालू पासवान, सुनीता देवी और मनोज पासवान के भी नाम भी इस रिपोर्ट में लिखे गए हैं.

शक्ति मालिके राजद पार्टी नेतृत्व से काफी नाराज़ चल रहे थे और साथ ही मलिक ने अररिया ज़िले के रानीगंज विधानसभा क्षेत्र से बतौर निर्दलीय प्रत्याशी चुनाव लड़ने की तैयारियां कर ली थी. कुछ दिनों पहले टिकट ना मिलने पर उन्होंने नेतृत्व पर सवाल उठाते हुए अपना वीडियो जारी किया जिसमें वो अपनी ही पार्टी के नेताओं पर पैसे मांगने के आरोप लगाए थे.

कोई टिप्पणी नहीं है

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

Exit mobile version